जाट आरक्षण हिंसा में 5 लोग हुए बरी

0
56

हरियाणा में जाटों ने आरक्षण की मांग को लेकर फरवरी 2016 में आंदोलन शुरु किया था और बाद में ये आंदोलन हिंसा में बदल गया था और प्रदेश में कई जगह दंगे जैसे हालात हो गए थे और लोगों ने कई जगह पर आगजनी तक की थी जिससे करोड़ो रुपये का नुक्शान प्रदेश में हुआ था और इसी आंदोलन के दौरान हिंसा, आगजनी और सरकारी काम मे बाधा पहुंचाने के आरोप में 5 आरोपी बनाए गए थे और इन पर कोर्ट में केस चल रहा था।

लेकिन अब कोर्ट ने पांचो आरोपियों को राहत देते हुए बरी कर दिया है। इन पर जाट आंदोलन के समय हांसी और बरवाला में हुई हिंसा में शामिल होने का आरोप था, इन आरोपियों में सिसाय के दलजीत, संदीप, सुरेंद्र, पवन और ढांड के संदीप पर केस दर्ज किया गया था। लेकिन अब हिसार कोर्ट में एडीजे डीआर चालिया ने पांचों को अपराधमुक्त कर दिया है।

इन पांचों के खिलाफ बीड़ फार्म हांसी निवासी अनिल ने शिकायत दी थी कि भीड़ ने उनके घर पर हमला कर दिया था और घर मे आगजनी की थी। वहां पर शिकायत करने वाले के भाई ने भागकर जान बचाई थी। इस हिंसा के मामले में पुलिस ने आरोपियों को पकड़ा था, और अब लगभग 3 साल बाद कोर्ट ने इन्हे बरी कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here