हरियाणा पुलिस के 2 ASI को 5-5 साल की सजा

0
28

रिश्वत लेकर धोखाधड़ी के केस से निकालने के मामले में आरोपित हरियाणा पुलिस के दो ASI जितेंद्र कुमार और जगदीश राम को चंडीगढ़ जिला अदालत ने 5-5 साल की सजा सुनाई है और साथ ही 1 लाख 5 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है।

बता दें कि जितेंद्र कुमार हरियाणा के जिला कैथल के पुलिस स्टेशन सीवन में बतौर एएसआई तैनात था, जिसे बाद में सस्पेंड कर दिया गया था। इसके साथ ही जगदीश राम पूर्व हरियाणा सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की सिक्योरिटी में तैनात था, जिसे विभाग ने मामला सामने आने पर टर्मिनेट कर दिया था। दोनों को अदालत ने मौलीजागरां के टैक्सी ड्राइवर गुरमीत को धोखाधड़ी के एक केस से निकालने के लिए रिश्वत मांगने के मामले में सजा सुनाई है।

गौरतलब है कि विजिलेंस की टीम ने जगदीश राम को 14 मई, 2018 को एक लाख रुपये रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। इससे पहले शिकायतकर्ता गुरमीत सिंह उन्हें पांच लाख रुपये दे चुका था। पूछताछ के दौरान जगदीश ने खुलासा किया था कि उसने कैथल सीआईए के एएसआई जितेंद्र कुमार और वहां के एक इंस्पेक्टर के कहने पर रिश्वत मांगी थी।

गुरमीत ने विजिलेंस में शिकायत दी थी कि जगदीश राम ने उसके खिलाफ कैथल में दर्ज धोखाधड़ी के एक मामले से उसे निकालने के लिए कैथल सीआईए के एएसआई जितेंद्र कुमार और एसएचओ कैथल के साथ 13 लाख रुपये में डील हुई थी। वह 5 लाख रुपये उन्हें पहले दे चुका है और अब वह 14 मई, 2013 को वह करीब 2 बजे रिश्वत के एक लाख रुपये देने के लिए जाएगा। इस दौरान विजिलेंस टीम ने सेक्टर-3 के पास एमएलए हॉस्टल के पास रिश्वत लेते हुए जगदीश को गिरफ्तार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here