‘भारत को चीन की मौजूदा स्थिति समझने की जरूरत’

0
9

चीन ने एक बार फिर आंतकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित होने से बचा लिया है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन ने चौथी बार इस प्रस्ताव के विरोध में अपने वीटो पावर का इस्तेमाल किया है. इस प्रस्ताव के पक्ष में यूके, यूएस, फ्रांस और जर्मनी पहले से ही थे. मसूद को बचाने पर चीन को अंतराष्ट्रीय स्तर पर आलोचना भी झेलनी पड़ रही है।

इस पूरे मामले पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि हमें ये समझने की जरूरत है कि चीन ने आखिर ऐसा क्यों किया? उन्होंने कहा कि मसूद अजहर के लिए चीन ने चौथी बार वीटो पावर का इस्तेमाल किया है, भारत को चीन की मौजूदा स्थिति समझने की जरूरत है।

यूएनएससी में मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित किए जाने का प्रस्ताव खारिज होने के बाद पहली बार किसी केंद्रीय मंत्री ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है, राजनाथ सिंह ने कहा जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के लिए चीन को समझाने की कोशिश जारी है।

उन्होंने कहा मसूद को ग्लोबल आतंकी घोषित किया जाना चाहिए लेकिन चीन ने ऐसा क्यों नहीं किया और क्यों नहीं करना चाहता है, इसके पीछे निश्चित तौर पर कोई कारण है, भारत को पहले ये समझने की जरूरत है, हालांकि, गृहमंत्री ने ये भी कहा कि चीन के इस कदम से भारत निराश नहीं है. उन्होंने कहा, यूएनएससी में मसूद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित होने से बचाने के लिए चीन ने जो भी बाधा डाली उससे भारत पर कोई असर नहीं पड़ता, आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई पहले की तरह जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here