आतंकियों से मुठभेड़ में हरियाणा का एक जवान शहीद

0
151

श्रीनगर के पुलवामा में आतंकियों से लोहा लेते हुए सैनिक बलजीत सिंह शहीद हो गए। बलजीत सिंह घरौंडा के गांव डिंगर माजरा के रहने वाले थे। बता दें कि 50 राष्ट्रीय राइफल में बलजीत हवलदार के पद पर तैनात था।

जानकारी मुताबिक रात को 2.30 बजे सेना के जवानों को पुलावामा के पास तीन आतंकवादियों के घुसे होने की सूचना मिली थी, जिसमें वह अपने साथी जवानों के साथ आतंकवादियों की घेराबंदी के लिए पहुंचे। इस दौरान आतंकवादियों को सेना के निकट आने की भनक लग गई और अपनी ओर से अंधेरे में फायर शुरू कर दिए।

मुठभेड़ के दौरान बलजीत ने एक आतंकवादी को फायर कर मार गिराया, लेकिन सामने से आतंकवादियों की फायरिंग में बलजीत सिंह को दो गोली लगी और एक अन्य साथी सिपाही को गोली लगी। जिसके बाद साथी सैनिक दोंनो गोली लगने से घायल जवानों को तुरंत सेना के अस्पताल ले  गए, जहां बलजीत व उसका दूसरा साथी सिपाही शहीद हो चुके थे।

सैनिक बलजीत सिंह के शहीद होने के सूचना गांव पहुंची तो पूरा गांव सदमे मे आ गया रह गया। शहीद सैनिक का आज राजकीय सम्मान के साथ गांव में ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। बलजीत का एक तीन वर्षीय बेटा और सात वर्षीय बेटी है। दिपावली पर एक महीने की छुट्टी लेकर परिजनों के साथ एक महीना बिताकर गए थे।

बलजीत सिंह जनवरी 2002 में 2 मैक इनफैंटरी में भर्ती हुए थे। उन्होंने महाराष्ट्र के अहमदनगर में ट्रेनिंग ली थी। इसके बाद अपनी अच्छी फिटनेस के चलते हवलदार बलजीत ने एन.एस.जी.कमांडो की ट्रेनिंग पूरी की थी और वर्ष 2015 से वर्ष 2017 तक नई दिल्ली में एन.एस.जी.में वी.वी.आई.पी.डयूटी में तैनात रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here