इनेलो के पांच विधायकों का इस्तीफा पड़ा महंगा, रद्द हुई सदस्यता

0
19
nainachautala

हिसार : हरियाणा के इनेलो के पांच विधायकों की विधानसभा अध्यक्ष ने दलबदल कानून के तहत सदस्यता रद्द कर दी है। इन विधायकों ने पिछले दिनों विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपा था जिसके तहत विधानसभा स्पीकर द्वारा नैना चौटाला, राजदीप फौगाट, अनूप धानक, पिरथी नम्बरदार और नसीम अहमद की सदस्यता रद्द की गई।

हालांकि इन विधायकों के इस्तीफे पहले से ही स्वीकार हो चुके थे, मगर चूंकि शिकायत और याचिका इन इस्तीफों की तिथि से पहले की विचाराधीन थी, लिहाजा उस याचिका पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को विधानसभा स्पीकर ने अपना फैसला सुनाया है।

विधायकों ने अभय द्वारा लगाए गए आरोपों को भी खारिज किया। उन्होंने दो-टूक कहा कि इनेलो नहीं छोड़ी है। न ही उन्होंने जजपा की सदस्यता ग्रहण की है। वैचारिकतौर पर किसी पार्टी की नीतियों का समर्थन करना दलबदल नहीं हो सकता। आरोप है कि चारों विधायक इनेलो से इस्तीफा दिए बगैर ही जजपा के कार्यक्रमों में शामिल होते रहे। इसके चलते इनेलो विधायक रामचंद्र कांबोज ने स्पीकर के समक्ष याचिका दायर करके चारों विधायकों के खिलाफ दलबदल विरोधी कानून के तहत कार्रवाई किए जाने की मांग की थी।

स्पीकर ने नसीम अहमद के सुनवाई के लिए नहीं पहुंचने पर एक्सपार्टी मानते हुए उनकों अयोग्य करार दिया है। हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ने जानकारी देते हुए कहा कि एक शिकायत पर चार विधायकों को अयोग्य करार दिया है, इसी तरह दूसरी शिकायत पर नसीम अहमद को अयोग्य करार दिया है। स्पीकर कंवरपाल गुर्जर ने जानकारी देते हुए कहा कि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को नेता विपक्ष चुना है और कांग्रेस के प्रस्ताव को विधानसभा ने मंजूरी दे दी है।