चंबा: डिपो से मिलने वाली दाल में दाल कम कीड़े ज्यादा, वीडियो वायरल

0
19

चंबा (साहिल शर्मा): जिले के चुराह क्षेत्र के डांड गांव के डिपो से मिलने वाली दाल में कीड़े निकलने का मामला सामने आया है। दरअसल यहां पर सरकारी राशन के डिपो में मूंग की दाल जिसे की राशनकार्ड उपभोग्ताओ को दी जा रही थी, एक तो यह दाल खुली थी और दूसरा इसमें दाल कम और कीड़े ज्यादा दिखाई दे रहे थे।

ग्रामीण लोगों ने कीड़ों से भरी दाल को इस डिपो होल्डर से ले तो लिया, लेकिन घर आकर इस दाल को लिफाफे से निकाल कर इसकी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। ग्रामीण लोगों का कहना है कि सरकार द्वारा दिए जाने वाला राशन जोकि आटा और चावल ही हैं, जो खुले में दिया जाता जबकि अन्य राशन प्लास्टिक के लिफाफे में पैक ही मिलता था। यह पहला मौका है जब राशन में मिलने वाली दाल खुली दी गई है और इसमें कीड़े ही कीड़े भरे पड़े है। ग्रामीण लोग इसकी जांच करवाने की मांग कर रहे है।

डिपो होल्डर से की जाए पूछताछ
सरकारी डिपू से उपभोग्ताओ को मिली यह वही मूंग की दाल है जिसमें दाल में कीड़े साफ तौर पर देखे जा सकते है। कीड़े भरी मूंग की दाल को लिफाफे से दिखाते हुए इन ग्रामीण लोगों ने बतया की उन्होंने सरकारी राशन के डिपो से सामान खरीदा था और घर जा कर सामान खोला तो मूंग की दाल में काफी कीड़े पाए गए। जितने भी लोगों ने इस महीने मूंग की दाल खरीदी है, उसमें अधिकतर लोगों को कीड़े देखने को मिले हैं।

उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकारी डिपो पर जो भी दालें दी जाती है वह अक्सर लिफाफे में पैक होती है लेकिन इस बार उन्हें खुली दाल दी गई है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से लोगों को यह कीड़ों वाली दाल बांटी जा रही है, उससे लोगों के स्वास्थ्य में भी फर्क पड़ सकता है इसलिए इस राशन की जांच के साथ डिपो होल्डर से भी पूछा जाए कि वास्तव में लाया गया राशन सिवल सप्लाई के यहां से ही लाया गया है, अगर नहीं तो उस डिपो होल्डर के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए ।

एस.डी.एम. ने दिया लोगों को आश्वासन
सरकारी डिपूओं में उपभोग्ताओ को मिलने वाली ऐसी सामग्री जिसको लेकर ग्रामीणों में बहुत गुस्सा है। हालांकि जब यह बात सामने आई तो प्रशासन ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए जल्द संबंधित विभाग से इसकी रिपोर्ट तलब करने के आदेश जारी कर दिए है। एस.डी.एम. सलूणी अजय धीमान ने लोगों को आश्वासन देते हुए बताया कि रिपोर्ट मिलने के बाद उचित करवाई अमल में लाई जाएगी।