डायरिया से दो बच्चों की मौत, 50 से ज्यादा अस्पतालों में भर्ती

0
74
baddihospital

बद्दी (सुरिंदर सिंह सोनी) : हिमाचल व हरियाणा सीमावर्ती क्षेत्र के गांव शाहपुर में डायरिया फैलने से दो बच्चों की मौत का मामला सामना आया है जबकि 50 से ज्यादा प्रवासी मजदूरों का सरकारी अस्पतालों में उपचार चल रहा है। यह सभी मजदूर हिमाचल के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के उद्योगों में काम करते हैं और बद्दी हरियाणा सीमा पर स्थित शाहपुर गांव में झुग्गी झोपड़ियों मैं किराए पर रहते हैं।

slum

जानकारी के अनुसार लोगों ने आसपास के ही किसी प्राकृतिक स्तोत्र से पानी पिया जिस कारण बीते मंगलवार की रात से दर्जनों प्रवासी बीमारी की चपेट में आ गए। जब उन सभी की तबीयत ज्यादा खराब होने लगी तो लोगों ने बद्दी सीएचसी व निजी अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती करवाया। बताया जाता है कि डायरिया फैलने की खबर मिलते ही हिमाचल व हरियाणा का स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया और शाहपुर गांव जाकर डायरिया से पीड़ित लोगों को अस्पताल पहुंचाया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के कर्मी मामले की जांच के लिए शाहपुर पहुंचे और दवाइयां वितरित करते हुए पानी के सैंपल भी भरे गए। वहीं हरियाणा से आए डॉक्टरों ने बताया कि जैसे ही उन्हें यह सूचना मिली कि डायरिया के मरीज शाहपुर में बढ़ते जा रहे हैं तो उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए उनकी एक टीम ने शाहपुर में जाकर सभी झुग्गियों में रह रहे मरीजों के सैंपल एकत्रित किए साथ ही पीने के पानी के भी सैंपल भरे।

doctor

जिन मरीजों की हालत गंभीर पाई गई उन्हें पीजीआई और सेकटर 32 के अस्पलात में रेफर किया गया है। उन्होंने बताया कि दो मरीजों की मृत्यु हुई है जिसमें एक 10 वर्षीय बच्ची भावना व ढाई वर्षीय ललिता है। फिलहाल बाकी सभी मरीज खतरे से बाहर है और उन्हें जल्द ही अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर दिया जाएगा। वहीं नालागढ़ अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि तकरीबन 23 मामले नालागढ़ अस्पताल में उपचार अधीन है जिनका इलाज किया जा रहा है और सभी लोग खतरे से बाहर हैं।