नही मिला किन्नौर में लापता हुए जवानों का सुराग

0
79

हिमाचल  प्रदेश के जिला किन्नौर के डोगरी (नमज्ञा) में 20 फरवरी को ग्लेशियर आने से लापता हुए सेना की सात जैक राइफल के पांच जवानों का रविवार को पांचवें दिन भी कोई सुराग नहीं लग पाया।खराब मौसम के बीच सर्च ऑपरेशन चलाया गया, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। बचाव अभियान में जुटी टीमों ने रविवार सुबह फिर से नई उम्मीद के साथ ऑपरेशन शुरू किया, लेकिन बिगड़ते मौसम की वजह से उन्हें काफी दिक्कतें पेश आई।

किन्नौर के ऊपरी क्षेत्र में बर्फबारी और बारिश होने से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रखने में परेशानी हुई। हालांकि दिल्ली से आई स्पेशल रेस्क्यू टीम के हौंसले बुलंद हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही जवानों का पता चल जाएगा। 

पूह उपमंडल के डोगरी नामक स्थान में ग्लेशियर गिरने से सेना के छह जवान इसकी चपेट में आ गए थे। इनमें से राकेश कुमार, जिला बिलासपुर को निकाल लिया था, लेकिन अस्पताल ले जाते हुए उन्होंने दम तोड़ दिया। इसके बाद 250 जवान और खोजी कुत्तों की मदद से अन्य जवानों को खोजने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। सेना की दो स्पेशल टीम भी आई हुई हैं। 

रविवार को भी बर्फबारी व बारिश के बीच तलाश में डीप सर्च रडार और स्निफर डॉग को लगाया गया। दो स्थानों पर स्निफर डॉग और रडार ने कुछ इशारा किया, लेकिन वहां भी कुछ नहीं मिल पाया। 


किन्नौर के उपायुक्त गोपाल चंद ने बताया कि ग्लेशियर में दबे पांच जवानों का पांचवें दिन भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है। रेस्क्यू टीम पूरी कोशिश कर रही हैं, लेकिन उन्हें अभी कामयाबी नहीं मिल पाई है। एडीएम पूह शिव मोहन ने बताया कि पूरा दिन खराब मौसम और बर्फबारी के बावजूद बचाव अभियान चलाया गया, लेकिन कामयाबी नहीं मिल पाई।



 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here