फतेहाबाद में बैंक चोरी के 4 आरोपी गिरफ्तार

0
53

फतेहाबाद के धारसूल कलां के जिला सहकारी बैंक की ब्रांच में चोरी करने के चारों आरोपियों को एक दिन के रिमांड के बाद अदालत में पेश किया गया। जज ने उन्हें जेल भेज दिया। उनकी निशानदेही पर चोरीशुदा बंदूक और कारतूस बरामद कर लिए गए।

मामले में मुख्य आरोपी स्वर्ण सिंह ने बैंक भवन में फर्श पक्का करने के दौरान मजदूरी करते हुए चोरी की प्लानिंग बना ली थी। बाद में उसने अपने साथियों का इसमें शामिल कर लिया। कुलां पुलिस चौकी प्रभारी आनंद कुमार बैनीवाल ने बताया कि जिला सहकारी बैंक ब्रांच धारसूल कलां में 4 फरवरी की रात को चोरी की घटना को अंजाम देने वाले आरोपी स्वर्ण सिंह, छिंदा राम, बलविंद्र सिंह निवासीगण मुसा खेड़ा और सुमनदीप सिंह को एक दिन के रिमांड के दौरान उनके पास से बैंक से गार्ड की चोरी की गई बंदूक और 6 कारतूस बरामद किए गये। बंदूक छिंदा सिंह के घर से बरामद की गई और कारतूस उसके दूसरे साथियों के घरों से अलग अलग जगह से मिले। रिमांड के बाद सोमवार को चारों आरोपियों को अदालत में पेश किये जाने के बाद उन्हें जेल भेज दिया। 

बैंक चोरी का आरोपी स्वर्ण सिंह एक साल से धारसूल कलां के पंचायत भवन को पक्का करने, गेट निर्माण और नालियों के निर्माण कार्य करने के लिए मिस्त्री के साथ मजदूरी का काम करता आ रहा था। जिला सहकारी बैंक ब्रांच इसी पंचायत भवन के एक भाग में बना हुई है।

स्वर्ण सिंह ने इसी दौरान रैकी करके अपने दूसरे साथियों को साथ लेकर बैंक से नकदी चुराने की योजना बनाई गई। इसी योजना के तहत 4 फरवरी की रात को बैंक की पिछली दीवार में सेंधमार कर बैंक में घुस गए। बैंक की तिजोरी न टूटने से उसमें रखे 6 लाख 60 हजार रुपये तो बच गए थे। जाते-जाते बैंक गार्ड रमेश चंद्र की बंदूक व कारतूस ले गए थे। सुबह पंचायत घर के भवन में काम पर आए आरोपी स्वर्ण सिंह ने ही बैंक की सफाई करने वाली महिला श्योबाई को बैंक में सेंधमारी होने की जानकारी दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here