भारतीय अधिकारियों ने की कुलभूषण जाधव से मुलाकात

0
45
kulbhushan

इस्लामाबाद: पाकिस्तान द्वारा राजनयिक पहुंच की अनुमति दिए जाने के बाद इस्लामाबाद में भारतीय वरिष्ठ उप उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया ने जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषणजाधव के साथ मुलाकात की। जाधव को जासूसी तथा आतंकवाद के आरोप में पाकिस्तान 2017 में उन्हें मौत की सजा सुनाई थी।

जाधव से मिलने से पहले, वरिष्ठ भारतीय राजनयिक ने विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल से मुलाकात की थी। सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी की राजनयिक से मुलाकात की शर्तों पर भारत और पाकिस्तान में मतभेद के कारण करीब छह हफ्ते बाद पाकिस्तान ने रविवार को यह एलान किया। पाकिस्तान विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने रविवार को ट्वीट कर कहा कि जाधव को विएना समझौते, आईसीजे के आदेश और पाकिस्तान के कानून के तहत राजनयिक पहुंच दी जाएगी। फैसल ने हालांकि यह नहीं बताया था कि बातचीत के दौरान पाकिस्तानी अधिकारी रहेगा या नहीं।

49 वर्षीय जाधव को ‘जासूसी और आतंकवाद के आरोप में पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल, 2017 में मौत की सजा सुनाई थी। उसके बाद भारत ने आईसीजे पहुंचकर उनकी मौत की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को केंद्र सरकार द्वारा हटाए जाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान की यह पेशकश आई है।

पाकिस्तान आरोप लगाता है कि कुलभूषण जाधव एक जासूस है। हालांकि, भारत की ओर से इस दावे को नकारा जा चुका है। पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने 3 मार्च 2016 को जासूसी और आतंकवाद के आरोप में ब्लूचिस्तान से गिरफ्तार किया था।