माल्या के प्रत्यर्पण पर अगले साल होगी सुनवाई

0
34

लंदन: भगोड़े चल रहे भारतीय कारोबारी विजय माल्या की भारत प्रत्यर्पण की याचिका पर सुनवाई अगले साल 2020 में फरवरी महीने में की जाएगी। यह जानकारी ब्रिटेन के उच्च न्यायालय ने दी है।

भारत में बैंकों के साथ 9000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले का सामना कर रहे माल्या को लंदन की रॉयल कोर्ट आफ जस्टिस ने इस महीने के शुरू में अपनी सपुर्दगी के खिलाफ अपील करने का आज्ञा दे दी थी। इंग्लैंड की हाई कोर्ट ने कहा कि वह इस मामले की सुनवाई अगले साल 2020 में फरवरी महीने की 11 तारीख को होगी और यह सुनवाई करीब तीन दिन तक चलेगी। माल्या की वकील कलेर मोंटगोमरी ने कहा कि उन्होंने बहुत मजबूती के साथ अदालत में माल्या का पक्ष रखा था जिसके बाद अदालत ने यह फैसला सुनाया।

विजय माल्या ने कहा कि वह बैंकों का सारा लोन वापिस करने की पेशकश कर चुके हैं। वह अब भी यह चाहते हैं कि भारतीय बैंक अपना सारा लोन वापिस ले लें और वह जो करना चाहते हैं करें व उन्हें शांति के साथ रहने दें। माल्या को भारतीय अदालत ने भगोड़ा घोषित किया हुआ है।