रेलिगेयर धोखाधड़ी मामला: मालविंदर सिंह, शिविंदर सिंह और तीन अन्य 4 चार दिन के पुलिस रिमांड पर

0
19
malvindersingh

नई दिल्ली: 2397 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के आरोप में फोर्टिस हेल्थकेयर के पूर्व प्रमोटर मालविंदर सिंह, उनके भाई शिविंदर सिंह, सुनील गोडवानी, कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना को आज दिल्ली की एक अदालत ने चार दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

इस मामले में पुलिस ने मालविंदर सिंह को आज शुक्रवार की सुबह पंजाब के लुधियाणा से गिरफ्तार किया था जबकि मालविंदर सिंह के भाई शिविंदर मोहन सिंह, सुनील गोडवानी, कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। इन सभी को अदालत में पेश किया गया था। आरोप है कि इन्होंने रेलिगेयर फिनवेसट लिमिटेड (RFL) और रेलिगेयर इंटरप्राइज लिमिटेड (REL) के फंड में हेराफेरी की और करोड़ों की धोखाधड़ी की। इनको दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (EWO) ने गिरफ्तार किया था। RFL, REL की सहायक कंपनी है और शिविंदर सिंह और मालविंदर सिंह REL की प्रमोटर थे। बता दें कि मालविंदर सिंह कुछ समय से फरार चल रहे थे जिसक बाद उनके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था।

malvindersingh

RFL के मनप्रीत सिंह सूरी की ओर से शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मार्च में मामला दर्ज किया था। अपनी शिकायत में सूरी ने बताया था कि शिविंदर सिंह, गोधवानी और कई अन्यों ने कंपनी के लिए लोन लिया था, लेकिन इन्होंने लोन का यह पैसा अन्य कंपनियों में निवेश किया था। इन पर आरोप है कि इन्होंने अन्य कंपनियों में लोन का पैसा निवेश करके RFL की आर्थिक हालत बहुत खराब कर दी थी जिसके कारण कंपनी को 2397 करोड़ रुपए का घाटा पड़ा था।