हथिनी कुंड से छोड़ा पानी, दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर

0
19

नई दिल्ली: भारी बारिश के चलते यमुना में पानी का स्तर खतरे के निशान से ऊपर चला गया है। यमुना का पानी 204.7 मीटर तक बह रहा है और यह 207 मीटर तक जाने की संभावना है।

हरियाणा के यमुनानगर में हथनीकुंड बैराज से रविवार शाम 6 बजे बजे 8.28 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। बैराज से बड़ी मात्रा में छोड़े जा रहे पानी से पूर्वी जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। पानी की इतनी बड़ी मात्रा एक साथ आने से दिल्‍ली के निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है जिसके चलते प्रशासन ने आपातकालीन स्थिति के लिए 011-22051234 नंबर जारी किया है। दिल्ली सरकार ने यमुना के साथ के इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए निर्देश दिए हैं।

आपको बता दें की इससे पहले 15 अगस्त को हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से 143000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था लेकिन अब जिस तरह से बैराज का पानी लगातार दूसरी बार छोड़ा गया है, उससे खतरा बढ़ गया है। यमुना से सटे दिल्ली के रिहायशी इलाकों और झुग्गी के एरिया में रहने वाले लोगों के लिए ये पानी मुसीबत बन सकता है जिसके चलते प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है।

प्रशासन ने बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली है । पिछले साल जुलाई में दिल्ली में यमुना के पुराने पुल पर यातायात कुछ दिनों के लिए रोक दिया गया था। दरअसल, नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया था। पिछले साल यमुना का जलस्तर 205.5 मीटर तक पहुंच गया था तो वहीं इस बार भी प्रशासन ने बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने के लिए सभी तरह के इंताजाम किये हुए है।