हरियाणा की बेटी बनी पहली BSF सहायक कमांडेंट!

0
174

हरियाणा प्रदेश का नाम रोशन करते हुए सौम्या BSF में हरियाणा की पहली और देश की तीसरी महिला सहायक कमांडेंट बनी। मध्यप्रदेश के ग्वालियर के टेकनपुर स्थित बीएसएफ अकादमी में आयोजित दीक्षांत समारोह में सौम्या को स्वार्ड आफ आनर से सम्मानित किया गया। सोनीपत के सेक्टर-12 की रहने वाली सौम्या ने संघ लोक सेवा आयोग की तरफ से आयोजित परीक्षा में पहले ही प्रयास में ये सफलता हासिल की है। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर दूसरा स्थान पाया है।

दीक्षांत समारोह के बाद घर लौटीं सौम्या ने बताया कि जल्द ही उसे देश की सीमा पर अधिकारी के तौर पर नियुक्ति मिलेगी। उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग के दौरान उन्हें पहले बेस्ट ट्रेनी के लिए स्वार्ड ऑफ आनर और बेस्ट इन इंडोर सब्जेक्ट्स के लिए डीजी ट्राफी से बीएसएफ अकादमी के निदेशक यूसी सारंगी ने सम्मानित किया। सौम्या बचपन से ही सेना में जाने की इच्छुक थी। उन्होंने वर्ष 2016  में दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्विद्यालय मुरथल से कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग में बीटेक किया है।

वही सौम्या के पिता कुलदीप सिंह को अपनी सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार मिला हुआ है और अभी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भिगान में प्राचार्य के पद पर तैनात हैं। उनकी माता मंजू चौहान भी सोनीपत के एक निजी स्कूल में अध्यापिका हैं। सौम्या के परिवार के अधिकतर लोग सेना में हैं और उसने भी सेना में जाने की प्रेरणा उन्हीं से ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here