11 साल के बाद गेस्ट टीचरों का संघर्ष कामयाब!

0
80

हरियाणा के अतिथि अध्यापकों को खट्टर सरकार बड़ी सौगात देने जा रही है। 11 साल के लंबे अंतराल के बाद अतिथि अध्यापकों का संघर्ष अब कामयाब होने जा रहा है। प्रदेश की मनोहर लाल सरकार सभी अतिथि अध्यापकों को पक्का करने का फैसला लिया है।

शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से चर्चा करके अधिकारियों को इस पर विधेयक तैयार करने के निर्देश दिए हैं। विधानसभा के बजट सत्र के दौरान अतिथि अध्यापकों को पक्का करने का बिल पेश होने की संभावना है। अतिरिक्त निदेशक प्रवीण कुमार और वंदना दिसौदिया के नेतृत्व में विधेयक का मसौदा कर शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा को सौंप दिया गया है।

इसके तहत 31 जनवरी 2019 तक दस साल का सेवा कार्यकाल पूरा कर चुके सभी अतिथि अध्यापक को सरकार पक्का कर सकती है।

बता दें पिछली हुड्डा सरकार में 20 दिसंबर 2005 से 16 दिसंबर 2007 के बीच करीब 22 हजार अतिथि अध्यापकों की नियुक्तियां हुई थी। इनमें से 13 जून 2015 को सरकार ने 3581 अध्यापकों को हटा दिया था। जिसे लेकर अतिथि अध्यापकों ने आंदोलन कर दिया था। अतिथि अध्यापक 2008 से पक्का करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे है। इस दौरान 54 छोटे-बड़े आंदोलन हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here