मांगों को लेकर आशा वर्कर ने SDM को दिया ज्ञापन

0
114
nalagarh

नालागढ़ (सुरेंद्र सिंह सोनी): नालागढ़ में आशा वर्कर द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया जिसके बाद उन्होंने अपनी मांगों को एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा। आशा वर्कर कार्यकर्ताओं ने बताया कि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अधीन पूरे देश में संचालित योजना में लगभग 12 लाख आशा वर्कर कार्यरत हैं।

nalagarh

इन आशा वर्करों द्वारा ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में लोगों को उनके स्वास्थ्य संबंधी आवश्यकताओं की जानकारी देने, उन्हें प्राथमिकता चिकित्सा प्रदान करने आवश्यक सेवाओं के उपयोग के लिए परामर्श एवं व्यवस्था देने तथा स्वास्थ्य सेवा केंद्र तक पहुंचाने में मदद करने तथा लोगों को साफ-सफाई एवं स्वच्छता के महत्व को बताते हुए, स्वच्छ पेयजल तथा शौचालय आदि बनाने में मदद करने जैसे कार्य सामान्य रूप से उनके द्वारा किए जाते हैं। इन कार्यों को करने के एवज में भारत सरकार द्वारा आशा कर्मियों को कोई मानदेय या वेतन नहीं दिया जाता बल्कि उक्त कार्य हेतु संचालित योजनाओं के अनुसार प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाता है।

nalagarh

आंकड़े बताते हैं कि जब से आशा कर्मियों ने देश में कार्य करना आरंभ किया है तब से जच्चा-बच्चा की मृत्यु दर लगातार कम हो रही है। उपरोक्त कार्यो के अलावा आशा कार्यकर्ताओं से राज्य सरकारें के अन्य कार्य भी संचालित करवाती हैं। यह वही कार्य हैं जो राज्यों में कार्यरत सरकारी कर्मचारी करते हैं, इसलिए आशा कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि एवं मानदेय के सातवें वेतन का भुगतान किया जाना चाहिए।