हांगकांग से भारत लाया जाएगा नाभा जेल ब्रेक का मुख्य साजिशकर्ता रोमी

0
23
romi

चंडीगढ़: पंजाब पुलिस को उस समय बड़ी सफलता हासिल हुई जब हांगकांग की अदालत ने नाभा जेल ब्रेक के मुख्य साजिशकर्ता गैंगस्टर रमनजीत सिंह रोमी को भारत के हवाले करने का फैसला सुनाया। रोमी साल 2016 और 2017 में पंजाब में सामाजिक-धार्मिक नेताओं की हत्या के मामले में भी वांछित है।

बता दें कि हांगकांग की अदालत ने भारत सरकार के पक्ष में फैसला सुनाते हुए आदेश दिया कि रोमी को भारत के हवाले कर दिया जाए। कई मामलों में वांछित रोमी को पंजाब पुलिस ने जून 2016 में गिरफ्तार किया था। इसके बाद उसे पंजाब की नाभा जेल में रखा गया था और अगस्त 2016 में जमानत मिलने के बाद रोमी हांगकांग भाग गया था। रोमी पर आरोप है कि उसने नवंबर 2016 में हुए नाभा जेल ब्रेक कांड में मुख्म भूमिका निभाई थी और इस कांड के लिए उसने फंडिंग भी की थी। इस जेल पर बंदूकधारी कुछ लोगों ने हमला कर दिया था जिसके बाद खालिस्तान लिब्रेशन फोर्स के प्रमुख हरमिंदर सिंह मिंटू, आतंकवादी कश्मीर सिंह, गैंगस्टर विक्की गोंडर, गुरप्रीत सिंह सेखों, नीता देयोल ओर अमनदीप जेल से फरार हो गए थे।

28 फरवरी 2018 को हांगकांग में गिरफ्तार हुआ था रोमी

रोमी को 30 करोड़ रुपए की लूट के मामले में फरवरी 2018 में हांगकांग में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन रोमी ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया था। जिस समय रोमी हांगकांग पुलिस की हिरासत में था तो उस समय भारत सरकार ने हांगकांग की सरकार से संपर्क किया था ताकि रोमी को भारत के हवाले किया जा सके। भारत सरकार ने हांगकांग सरकार को कहा था कि रोमी जिन अपराधों के लिए भारत में वांछित है, वह हांगकांग के 28 गंभीर अपराधों के बराबर है। पंजाब पुलिस ने कहा है कि नाभा जेल ब्रेक मामले की जांच में और मिंटू समेत गिरफ्तार अन्य अपराधियों ने पूछताछ में बताया है कि रोमी ही नाभा जेल ब्रेक का मुख्य साजिशकर्ता है।