मैच फिक्सिंग: कर्नाटक प्रीमियर लीग के दो खिलाड़ी गिरफ्तार, खराब बल्लेबाजी के लिए 20 लाख रुपए लेने का आरोप

0
38
cmgautam

बेंगलुरू: क्रिकेट मैचों में मैच फिक्सिंग के कई मामले सामने आ रहे हैं और फिक्सिंग का क्रिकेट मैचों पर साया लगातार मंडरा रहा है। ऐसा ही एक मामला उस समय सामने आया जब मैच फिक्सिंग के आरोपों में कर्नाटक प्रीमियर लीग के दो खिलाड़ियों को गिरफ्तार किया है। यह दो खिलाड़ी बेल्लारी टीम के कप्तान सी.एम. गौतम और अबरार काजी हैं। इन दोनों पर आरोप है कि इन्होंने इस साल केपीएल के 31 अगस्त को बेल्लारी टस्कर्स और टाइगर्स में खेले गए फाइनल मैच में 20 लाख रुपए लेकर खराब बल्लेबाजी की थी। इसके साथ ही केपीएल में बेंगलुरू टीम के खिलाफ भी इन दोनों ने मैच फिक्स किया था।

cmgautam

बता दें कि गौतम कर्नाटक और गोवा की ओर से रणजी के कई मैच खेल चुका है और इसके साथ-साथ गौतम इंडियन प्रीमियर लीग में भी मुंबई इंडियंस और रॉ़यल चैलेंजर्स बेंगलुरू की ओर से खेल चुका है जबकि काजी कर्नाटक की ओर से खेलता है। मैच फिक्सिंग के आरोप में पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

nishantsinghshekhawat

इससे पहले मंगलवार को केपीएल में मैच फिक्सिंग के आरोप में निशांत सिंह शेखावत को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शेखावत सट्टेबाजों के संपर्क में था और बेंगलुरु ब्लास्टर्स टीम के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद के साथ संपर्क किया था ताकि वह गेंदबाजों के साथ बातचीत करवा सकें। शेखावत पर आरोप है कि उसके पिछले साल 2018 में केपीएल के एक मैच में 5 लाख रुपए लेकर धीमा प्रदर्शन किया था। यह मैच बेंगलुरू और बेलगवी की टीम में खेला गया था। इस मामले की जांच करते हुए पुलिस ने बेलगवी पैंथर्स टीम की मालिक अली, बेंगलुरू ब्लास्टर्स के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद और बल्लेबाज विश्वनाथन को भी गिरफ्तार किया था।